बीजेपी
uncategories

बीजेपी का महा कुम्भ या चोरों का महाकुम्भ ?

September 25th, 2018 at 6:20 am by Ayush Rawal

विधानसभा चुनाव का शंखनाद करने के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं ने महाकुम्भ का आयोजन किया है। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह कार्यकर्ताओं में जोश भरने आ रहे हैं। एकतरफ बीजेपी इस कार्यकर्ता सम्मलेन को विश्व का सबसे बड़ा महाकुम्भ होने का दवा कर रही और जोर शोर से इसे सफल बनाने जुटी है वहीं ट्विटर पर भी यह ट्रेंड हो रहा है। लेकिन ‘बीजेपी कार्यकर्ता महाकुम्भ’ की जगह हैशटेग “choron ka mahakumbh” ‘चोरो का महाकुम्भ’ देश भर में ट्रेंड हो रहा है। कांग्रेस ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर एक हैशटेग वायरल किया है। जिसे चोरों का महाकुंभ नाम दिया है। इसको लेकर सभी कांग्रेस नेता ट्वीटर पर बीजेपी सरकार पर आरोप लगाते हुए इस हैशटैग के साथ पोस्ट वायरल कर रहे है।
राफेल डील पर एक तरफ कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावर है वहीं मध्य प्रदेश में चुनावी शंखनाद के लिए आयोजित किया जा रहा कार्यकर्ता महाकुंभ को भी कांग्रेस ने निशाने पर लिया है और इसे चोरों का महाकुंभ बताया जा रहा है कांग्रेस द्वारा ट्वीटर पर इसके खिलाफ मुहिम छेड़ी गई और ‘चोरों का महाकुंभ’ ट्रेंड में तीसरे नंबर पर है।
मध्यप्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से ट्विट कर महाकुंभ में आने वाले सभी नेताओं को अपराधी बताया गया है। पोस्ट में लिखा है कि कल मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में राफेल डील, व्यापम घोटाला, अवैध खनन, भ्रष्टाचार, बलात्कार, सैक्स रैकेट, नोटबंदी और किसान गोलीकांड के आरोपी इकठ्ठा हो रहे हैं। इतने सारे अपराधी जब एक जगह हों तो उसे क्या कहेंगे..? कार्यकर्ता महाकुम्भ या चोरों का महाकुम्भ..?
कांग्रेस का ये हैशटेग #choronkamahakumbh सोशल मीडिया पर ट्रेंड हो रहा है। कांग्रेस ने इस ट्वीट के सहारे कई मामलों को लेकर पूरी बीजेपी को कटघरे में खड़ा कर दिया है। ट्वीटर पर राफेल डील को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा जा रहा है, वहीं मध्य प्रदेश में व्यापमं मामले को लेकर सीएम शिवराज को आड़े हाथों लेते हुए उन्हें इस घोटाले का मुख्य आरोपी बताया है, वहीं अन्य नेताओं को भी निशाने पर लिया जा रहा है।

Ayush Rawal September 25, 2018 6:20 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *