bhopal India Latest News madhyapradesh states

सीएम के जिले में 100 रुपए बिक रहा पेट्रोल, बताया जा रहा है यह कारण

October 18th, 2018 at 7:58 am by Yogesh Dwivedi

चुनावी साल को देखते हुए केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर ढाई रुपए तक की कटौती का ऐलान किया था। साथ ही सभी राज्य सरकारों से वैट कम करने के लिए भी अपील की गयी थी। जिसके बाद एमपी के मुखिया शिवराज सिंह ने प्रदेश में वैट कटौती का ऐलान किया था। लेकिन विडंबना ऐसी है कि तेल के दाम घटने के बाद भी प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में लोग पेट्रोलडीजल 100 रुपए प्रति लीटर तक लेने पर मजबूर हो रहे हैं। इन इलाकों में सीएम के विधानसभा क्षेत्र के कई गांव हैं शामिल  

जानकारी के मुताबिक प्रदेश के कई गांवों में  पेट्रोलडीजल बाजार के भाव के मुकाबले 15 से 20 फीसदी तक मिल रहा है महंगा प्रदेश में कुल  3,200 पेट्रोल पंप हैं। लेकिन प्रदेश भर में मांग के मुताबिक ये पूर्ति नहीं हो पा रही है। इस वजह से प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में लोग बाजार के मुकाबले महंगा पेट्रोलडीजल खरीदने पर मजबूर हैं। खासतौर से पर्यटक स्थलों के आस पास तेल के दाम 100 के पार हो चुके हैं। 

मीडिया रिपोर्ट् के मुताबिक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले की बुधनी और आस पास के इलाके आष्टा, सीहोर, इछावर में पेट्रोल 100 प्रति लीटर तक बिक रहा है। यहां के एक निवासी सुरेश सिंह ने मीडिया को बताया कि हम लोग पेट्रोल 100 रुपए प्रति लीटर खरीदते हैं। क्योंकि गांव से पेट्रोल पंप करीब 17 किलोमीटर दूर है। गांव वालों के दावे की पड़ताल करने के लिए मीडिया की एक टीम ने आस पास के गांव का जायजा लिया। इस तहकीकात में गांववालों का दावा बिलकुल सही पाया गया। 

दरअसल, इन सभी गांवों में कई छोटी दुकानें हैं जहां पेट्रोलडीजल 20 लीटर तक स्टाक कर रखा रहे है। गांव वाले इन दुकानों से खुलेतौर पर पेट्रोल 100 रुपए लीटर खरीदते हैं। एक दुकानदार ने मीडिया को बताया कि पेट्रोल पंप 17 किमी दूर है, मैं हर दूसरे दिन अपने रिस्क पर पेट्रोल पंप से खरीद करता हूं। ताकि आपातकाल में गांव वालों को जरूरत पड़ने पर पेट्रोल मुहैया कराया जा सके। हमारे पास 24 घंटे पेट्रोलडीजल का स्टाक रहता है। लेकिन इसके एवज में बाजार भाव से कुछ रुपए ज्यादा चुकाने होते हैं। वहीं, एक स्थानीय मैकेनिक ने आरोप लगाते हुए कहा कि ये दुकानदार सिर्फ महंगा पेट्रोल बेच रहे हैं बल्कि इसमें घासलेट की मिलावट भी करते हैं। 

Yogesh Dwivedi October 18, 2018 7:58 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *