सामज के दम पर कांग्रेस सीएम शिवराज के किले में सेंध नहीं लगा सकती, ऐन वक्त पहले ऐसा कर पाना नामुमकिन है
India Latest News madhyapradesh Treading

समाज के दम पर कांग्रेस, सीएम शिवराज के किले में सेंध नहीं लगा सकती, ऐन वक्त पहले ऐसा कर पाना नामुमकिन !

November 15th, 2018 at 6:22 am by Yogesh Dwivedi

मध्यप्रदेश में इस बार सबसे रोचक मुकाबला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव के बीच होने वाला है। लेकिन सबसे बड़े सवाल है कांग्रेस के पास आखिर कौन सा ऐसा मंत्र है जो अरूण यादव को जीत दिला सकता है। सीएम के गृह जिले बुधनी में जाती गत समिकरण भी कांग्रेस के हक में नहीं है।

इस सीट पर कुल मतदाता दो लाख 41 हजार हैं। पिछले चुनाव में कांग्रेस के महेंद्र सिंह चौहान को करीब 84 हजार वोटों से शिवराज ने हराया था। इस बार कांग्रेस ने जातीगत समीकरण देखते हुए अरूण यादव को मैदान में उतारा है। बताया जा रहा है इस बार यादव समाज कांग्रेस को समर्थन देने के पक्ष में है। इनकी संख्य करीब 30 हजार के आस पास है।

अकेले यादव सामज के दम पर कांग्रेस सीएम शिवराज के किले में सेंध नहीं लगा सकती। इसके लिए उसे किरार समाज में भी गहरी पकड़ बनाना होगी। लेकिन चुनाव से ऐन वक्त पहले ऐसा कर पाना नामुमकिन है। दो हफ्ते बाद मतदान होना है। ऐसे में कांग्रेस को कौन सा हुकुम का इक्का जीत दिला सकता है फिलहाल यह तो भविष्य के गर्भ में है।

इस कारण भी बीजेपी का हो रहा विरोध

बुधनी के एक छोर पर पहाड़ हैं वहीं दूसरी ओर नर्मदा नदी। लगातार अवैध खनन होने और सीएम के परिवार पर आरोप लगने से यहां लोगों में नाराजगी भी है। अभी तक कांग्रेस किसी ऐसे नेता को यहां उतार नहीं सकी थी जिसे जनता पसंद करे। अरुण यादव को मैदान में उतार कर कांग्रेस ने बड़ा जातीगत कार्ड खेला है। यादव भी ओबीसी समुदाय से काफी संख्या में लोग हैं। इस बार मुकाबला ओबीसी बनाम ओबीसी है। यादव क्षेत्र में नए चेहरे के तौर पर उतारे गए हैं। यहां पर बारिश कम होने से फसल खराब हुई। जिससे किसानों में काफी नाराजगी है। हालांकि, किसानों का एक धड़ा यह भी दावा कर रहा है कि सीएम ने उन्हें योजनाओं के सहारे फसलों का अच्छा दाम दिलवाया है। इस सीट से कई आंदोलन भी हो चुके हैं। इन सब को ध्यान में रखा जाए तो यह कहना गलत नहीं होगा कि इस बार मुकाबला टक्कर का है। कांग्रेस को इसका फायदा जरूर मिलेगा।

Yogesh Dwivedi November 15, 2018 6:22 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *