Sc/st की वजह से भाजपा तो पहले से ही चुनाव जीती हुई है – जानिए कैसे
Latest News madhyapradesh Treading

Sc/st की वजह से भाजपा तो पहले से ही चुनाव जीती हुई है – जानिए कैसे

September 20th, 2018 at 6:07 am by Yogesh Dwivedi

पिछले तीन चुनावों से बहुमत का आधा आंकड़ा रिजर्व सीटों से ही पूरा कर लेती है भाजपा

राज्य की 39% आबादी के लिए 82 सीटें रिजर्व कैटेगरी की हैं |  मध्यप्रदेश की आबादी का करीब 39 प्रतिशत आदिवासी (23%) और अनुसूचित जाति (एससी) (16%) इलाका आता है। आदिवासियों के लिए 47 (20%) वही एससी के लिए 35 (15%) सीटें आरक्षित हैं। सत्ता की चाबी एक तरह से पहले से ही इनके पास है। इस समय इन जातियों के लिए आरक्षित राज्य की करीब तीन-चौथाई सीटें भाजपा के पास हैं। आंकड़ों के मुताबिक आदिवासी 2003 से पहले तक कांग्रेस का वोटबैंक हुआ करते थे। लेकिन जैसे ही उनका रुख भाजपा की ओर हुआ, कांग्रेस सत्ता में लौट ही नहीं पाई है । जहां तक एससी सीटों का सवाल है तो 1980 में कांग्रेस ने 75% सीटें जीती थीं और 1985 में 81%, लेकिन इसके बाद एससी वर्ग का कांग्रेस से मोहभंग हो गया। उसके बाद से भाजपा ही एससी के लिए सुरक्षित सीटों में से औसतन 70% जीत रही है।

2013 में 47% आदिवासी वोटरों ने भाजपा को चुना, जबकि 43% ने कांग्रेस को वही 2008 में 35% ने भाजपा को चुना, 33% ने कांग्रेस को। 2013 में 36% एससी वोटरों ने भाजपा को चुना, जबकि 33% ने कांग्रेस को यह आंकड़ा 2008 में 33% एससी वोटर्स ने भाजपा को चुना था, 31% ने कांग्रेस को और 2008 और 2013 में 9% एससी वोटर्स ने बसपा को चुना।

Yogesh Dwivedi September 20, 2018 6:07 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *