बीजेपी नेता का SC के खिलाफ बड़ा बयान: मैं 10 बजे के बाद ही पटाखे जलाऊंगा, चाहे जेल जाना पड़े
India Latest News madhyapradesh Treading

बीजेपी नेता का SC के खिलाफ बड़ा बयान: मैं 10 बजे के बाद ही पटाखे जलाऊंगा, चाहे जेल जाना पड़े

October 24th, 2018 at 5:59 am by Yogesh Dwivedi

मध्यप्रदेश उज्जैन से भाजपा सांसद चिंतामणि मालवीय ने फेसबुक पर पोस्ट कर लिखा है  “में अपनी दीवाली अपने परम्परागत तरीके से मनाऊंगा और रात में लक्ष्मी पूजन के बाद 10 बजे के बाद ही पटाखे जलाऊंगा । हमारी हिन्दू परंपरा में किसी की भी दखलंदाजी में हरगिज बर्दाश्त नही कर सकता । मेरी धार्मिक परम्पराओं के लिए यदि मुझे जेल भी जाना पड़े तो में खुशी खुशी जेल भी जाऊंगा”

दरअसल, मंगलवार को Supreme Coart  ने अपने फैसले में शर्तों के सात पटाखों की बिक्री और पटाखे चलाने की अनुमति दी है| कोर्ट ने कहा कि पटाखों की ऑनलाइन बिक्री नहीं की जा सकती है। कोर्ट ने ई-कॉमर्स पोर्टल्स को पटाखे बेचने से रोक दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पटाखों को केवल लाइसेंस पाए ट्रेडर्स ही बेच सकते हैं। आपको बता दें कि वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए देशभर में पटाखों के उत्पादन और बिक्री पर रोक लगाने की मांग की गई थी। याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को इस पर अहम फैसला दिया। कोर्ट ने कम आवाज वाले पटाखे जलाने का आदेश दिया है ताकि प्रदूषण से मुक्ति मिल सके  जस्टिस एके सीकरी की अध्यक्षता वाली पीठ ने मंगलवार को ये फैसला सुनाया है।

 

सुप्रीम कोर्ट की शर्तें और फैसले की बड़ी बातें :

-केवल रात आठ बजे से 10 बजे तक ही पटाखे जला सकते हैं।

-जिन विक्रेताओं के पास लाइसेंस है वही केवल पटाखे बेच सकते हैं।

-ऑनलाइन पटाखों पर लगी रोक जारी रहेगी।

-अगर कोई पटाखे की ऑनलाइन बिक्री करता है तो उसके खिलाफ कोर्ट की अवमानना का केस चलेगा।

-क्रिस्मस पर रात 12 बजे पटाखे चला सकते हैं। लेकिन नए साल और क्रिसमस के मौके रात 11:55 से 12:30 बजे तक ही पटाखे चला सकते हैं।

-दिवाली से पहले पटाखे बनाने वाली फैक्ट्री की जांच की जाए।

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वकील विजय पंजावाणी ने कहा, सुप्रीम कोर्ट का आदेश बहुत सख्त नहीं है। हम पूर्ण प्रतिबंध की उम्मीद कर रहे थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ है। पटाखों की अनुमति होगी लेकिन समय तय किया गया है क्योंकि इसे 8 बजे से शाम 10 बजे के बीच अनुमति दी जाएगी।

Yogesh Dwivedi October 24, 2018 5:59 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *