अब 'अपनों' से ही घिरे कम्प्यूटर बाबा, दूसरे संतों का बड़ा बयान:जानिए यहाँ
India Latest News madhyapradesh Treading

अब ‘अपनों’ से ही घिरे कम्प्यूटर बाबा, दूसरे संतों का बड़ा बयान:जानिए यहाँ

October 23rd, 2018 at 5:42 am by Yogesh Dwivedi

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले धर्म को लेकर सियासत गर्माई हुई है। कई साधु-संतों ने शिवराज के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है तो कहीं सरकार को उखाड़ फेंकने का दावा कर रहे है। चुनाव के सरगर्मी के बीच कंप्यूटर बाबा ने बीजेपी के परेशानी को काफी हद तक बढ़ा दिया है । आज राज्यमंत्री का इस्तीफा देने का बाद कम्प्यूटर बाबा इंदौर में ‘संतों के समागम’ में ‘मन की बात’ करने वाले है। कंप्यूटर बाबा अपनी मन की बात में नर्मदा में अवैध खनन, गोरक्षा और मंदिर निर्माण के मुद्दे पर चर्चा करेंगे। इससे पहले सोमवार को राजधानी भोपाल में एक संतों की सभा की गई। जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज भी शामिल हुए। इस सभा में संत शिवराज सरकार के समर्थन में उतरे वही उन्होंने कम्प्यूटर बाबा का विरोध भी किया।

सभा में शामिल हुए हिंदू आचार्य महासभा के अध्यक्ष स्वामी परमानंद गिरि ने कम्प्यूटर बाबा पर हमला बोलते हुए कहा वे व्यक्तिगत हित साधने वाले हैं, उनका संत समाज में कोई बड़ा कद नहीं है।संतो का सरकार को पूरा आशीर्वाद है इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि मैं सबसे बड़ा संत साधक हूं, मुझे साधु-संतों का आशीर्वाद मिल गया है। प्रदेश में चौथी बार भाजपा की सरकार जरूर बनेगी। सोमवार को हिंदी भवन में राजाभोज एकल अभियान समिति ने इस संत सभा का आयोजन किया था।  इसमें देश के विभिन्न राज्यों से विभिन्न संप्रदायों के संत मुख्यमंत्री को आशीर्वाद देने पधारे।

इस अवसर पर अखिलेश्वरानंद जी, महामंडलेश्वर परमानंद गिरी जी महाराज, गायत्री परिवार से ओ.पी. शर्मा, गिरीशानंद सरस्वती, महामंडलेश्वर हरिहरानंद सरस्वती, नर्मदानंद महाराजा, स्वामी उमेशनाथ जी महाराज, प्रणवानंद सरस्वती महाराज, स्वामी मुक्तानंद महाराज, सीताशरण जी महाराज, महामंडलेश्वर विश्वेश्वरानंद जी महाराज, महामंडलेश्वर राजीवलोचन महाराज, गणेशानंद जी महाराज और विभिन्न संप्रदायों के संत समाज उपस्थित रहे।

मध्यप्रदेश में राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त कंप्यूटर बाबा ने एक अक्टूबर को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि शिवराज सरकार संत समाज की उपेक्षा कर रही है। इसके बाद से वो लगातार सरकार और बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं।अब कंप्यूटर बाबा आज से इंदौर और इसके बाद 30 अक्टूबर को ग्वालियर, 4 नवंबर को खंडवा, 11 नवंबर को रीवा, 23 नवंबर को जबलपुर में संतों के समागम में अपने मन की बात करेंगे।संतों के महासम्मेलन में संतों की संगत नर्मदा नदी के विकास और स्वच्छता, गौरक्षा और मंदिर निर्माण जैसे मुद्दों पर चर्चा करेगी और सरकार को भी घेरेगी।

Yogesh Dwivedi October 23, 2018 5:42 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *